दिल्ली पुलिस का ‘इंडिया बोले नो टू ड्रग्स अभियान’

नई दिल्ली। आमतौर पर सभी लोग नशे से होने वाले नुकसान से वाकिफ हैं। बावजूद ऐसे लोगों की संख्या बहुतायत में है, जो बड़े शौक़ से नशे का सेवन करते हैं।
बता दें कि नशे का सेवन पुरुष ही नही, वल्कि महिलाएं भी बहुत अधिक संख्या में करती हैं, जो स्वास्थ्य व देश की भावी पीढ़ी के लिये कतई शुभ संकेत नही है।
नशे का सेवन करने के कई वजह हैं। नशे से होने वाले दुष्प्रभाव की वजह से जागरूकता के लिए 26 जून को नशा व नशा के अवैध तस्करी के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय दिवस के तौर पर पूरे विश्व में मनाया जाता है।
इसी क्रम में दिल्ली पुलिस के नारकोटिक्स सेल, क्राइम ब्रांच ने *इंडिया बोले नो टू ड्रग्स* स्लोगन के साथ आज का दिवस मनाया। समाज के अलग अलग वर्गों में नशे के खिलाफ जागरूकता फैलाने के लिए नारकोटिक्स सेल के एसीपी आर के ओझा, इंस्पेक्टर राम मनोहर मिश्र, एसआई रवि, ओमबीर, बिशन, विनोद, एएसआई सुभाष, हेड कांस्टेबल रमेश व अन्य सभी स्टाफ ने बढचढ कर हिस्सा लेते हुए लोगो को जागरूक करने का अभियान चलाया।
इसके तहत पुलिस टीम ने रैन बसेरा में व झुग्गियों में रह लोगों को तो नशे के दुष्प्रभाव के बारे में बताया ही साथ ही कनॉट प्लेस में भी जा कर लोगो को जागरूक किया व आम लोगों के साथ रैली निकाली गई, जिसको लोगों ने काफी सराहा।
पुलिस ने लोगों को AIR (A-awareness about drugs/ड्रग्स की जागरुकता,
I- identification of drug dealers/users- नशे के कारोबार में लिप्त लोगो की पहचान, R- report about drug dealers users/ ड्रग्स बेचने वालों के बारे मे पुलिस को सूचना) का फार्मूला अपना कर आगे आने को कहा।
नारकोटिक्स सेल जहां एक तरफ़ नशे के कारोबार में लिप्त लोगों को पकड़ने मे लगी हुई है। वहीं आम लोगों को नशे के खिलाफ जागरूक भी कर रही है जो कि सराहनीय कदम है। समाज मे जहर की तरह फैल रहे नशे के व्यापार पर दिल्ली पुलिस का दोतरफा प्रहार कितना सफल होता है, ये आने वाले समय में देखने को मिलेगा।